पत्र व्यवहार का पता

अभिव्यक्ति तुक-कोश

१. ४. २०२०

अंजुमन उपहार काव्य संगम गीत गौरव ग्राम गौरवग्रंथ दोहे पुराने अंक संकलन अभिव्यक्ति
कुण्डलिया हाइकु अभिव्यक्ति हास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतर नवगीत की पाठशाला रचनाकारों से

आज रामनवमी पूजा है

 

 

आज रामनवमी पूजा है
उबल रही है खीर

चैत मास का शुक्ल पक्ष है
जन्म लिए श्रीराम
सुष्ठ पुनर्वसु है नक्षत्र
है कर्क लग्न अभिराम
थिरक रही हैं मदिर हवाएँ
गद्गद गगन अमीर

रानी कौशल्या के अँगना
उमड़ रही है भीड़
नेमधरम में जुटा हुआ है
हँसी-खुशी का नीड़
हुई सजावट, गहक रहा है
दशरथ का प्राचीर

मंगलकलश भरा गंगाजल
दिया बालती साँझ
ढोल चढ़ाने की तैयारी
की चिंता में झाँझ
अपना रंग दिखानेवाला
पास पड़ा मंजीर

गई भिगोई डोलचियों में
चुनी चने की दाल
नमक और जीरा उद्यत हैं
बिहँस रहा है थाल
ठीक भोर में सजी मिलेगी
पूरी की जागीर

राजमहल में नौबत बजती
घंटों के सहयोग
फैले चारों ओर क्षितिज तक
शंखनाद के योग
मगन अयोध्या, सरयू का तट
पहुँचे हुए कबीर

- शिवानन्द सिंह 'सहयोगी'

इस माह
रामनवमी विशेषांक के अंतर्गत

गीतों में-

bullet

अनामिका सिंह अना

bullet

उमाप्रसाद लोधी

bullet

ओमप्रकाश नौटियाल

bullet

कुमार गौरव अजीतेन्दु

bullet

गिरि मोहन गुरु

bullet

पंकज परिमल

bullet

पुष्पलता शर्मा

bullet

भावना तिवारी

bullet

मधु शुक्ला

bullet

योगेन्द्रप्रताप मौर्य

bullet

रंजना गुप्ता

bullet

रमा प्रवीर वर्मा

bullet

रमेश गौतम

bullet

विश्वंभर शुक्ल

bullet

शिवानंद सिंह सहयोगी

bullet

शीला पांडे

bullet

सीमा हरिशर्मा

bullet

सुमित सोनी

bullet

सुरेन्द्रपाल वैद्य

bullet

हरिवल्लभ शर्मा हरि

bullet

-

bullet

-

अंजुमन में-

bullet

उमेश मौर्य

bullet

कल्पना मनोरमा

bullet

निशा कोठारी

bullet

सुवर्णा शेखर

bullet

-

bullet

-

छंदों में-

bullet

कल्पना रामानी

bullet

परमजीत कौर रीत

bullet

मंजु गुप्ता

bullet

शरद तैलंग

bullet

शैलेश गुप्त वीर

bullet

सुबोध श्रीवास्तव

bullet

-

bullet

-

छंदमुक्त में-

bullet

गोपाल कृष्ण भट्ट आकुल

bullet

मंजुल भटनागर

bullet

त्रिलोचना कौर

bullet

-

bullet

-

अंजुमनउपहार काव्य संगमगीतगौरव ग्राम गौरवग्रंथदोहे पुराने अंकसंकलनहाइकु
अभिव्यक्तिहास्य व्यंग्य क्षणिकाएँ दिशांतरनवगीत की पाठशाला

© सर्वाधिकार सुरक्षित
अनुभूति व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक सोमवार को परिवर्धित होती है।

Google
Loading
प्रकाशन : प्रवीण सक्सेना -- परियोजना निदेशन : अश्विन गांधी
संपादन¸ कलाशिल्प एवं परिवर्धन : पूर्णिमा वर्मन

सहयोग :
कल्पना रामानी